All posts tagged: hindi pyaar ki kavita

हटा दो

तो फिर हटा दो वो झूठे लाज का घूंघट वो तौर तरीकों के जाले वो नज़ाखत वो अदाएं … फिर ही तो मिल पाओगे मुझसे तुम बेबाक , बेशरम, बिना झूठ बिना सच बिना खुद के , बिना मेरे । फिर हटा देना वो सोच के दायरे मैं क्या देखूंगा क्या सोचूंगा क्या कहूँगा जब आना मुझसे मिलने तो बस अपनी रूह लाना… नंगी, अनछुई, ना साफ़ ना मैली।